किसानों को यहां फ्री में मिल रहे हैं किराए पर ट्रैक्टर्स, जानिए कौन-कब और कैसे उठा सकता है इसका फायदा
राष्ट्रीय खबर

किसानों को यहां फ्री में मिल रहे हैं किराए पर ट्रैक्टर्स, जानिए कौन-कब और कैसे उठा सकता है इसका फायदा

हमारा देश कृषि प्रधान देश है| कृषि से देश के आधे से ज्यादा परिवारों का गुजरान चलता है| खेती का हमारी अर्थव्यवस्था मेभी बहोत बड़ा हिस्सा है| सरकार समय समय पर किसानो की हालत सुधारने और उनकी आय में इजाफा करने के लिए कदम उठती आई है| कोरोना काल के चलते खेती मेभी इसका असर देखने को मिला है| किसानो की मदद करने ट्रेक्टर निर्माता कंपनी TAFE आगे आई है| इसके लिए किसानो के लिए एक बहोत बढ़िया स्कीम लाइ गई है|

इस स्कीम के तहेत किसान जुताई के समय फ्री में कंपनी के पास से ट्रेक्टर ले सकते है| यह ट्रेक्टर आपको खेत जुताई के बाद कंपनी को वापिस दे देना होता है| हम आज आपको इस स्कीम के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे है| टेफे ने कहा है की इस स्कीम का लाभ उठाकर 60 दिन में 1.55 लाख घंटे काम करके 1.03 लाख हेक्टर जमीन को जोता गया है| अभी तक 50 हजार किसान इसका फायदा उठा चुके है|

कौन? कब? और कैसे? इस स्कीम का फायदा उठा सकते है?

टेफे ने इस स्कीम के लिए फिलहार 16500 ट्रेक्टर उपलब्ध कराये है| इस ट्रेक्टर में मैसी फर्ग्युसन और आइसर ट्रेक्टर किसान को दिए जायेंगे| यह स्कीम कोरोना वाइरस के चलते चालू करी गई है| इस स्कीम के तहेत 2 एकड़ या उससे कम जमीन वाले किसान को मुफ्त में ट्रेक्टर उपलब्ध कराये जायेंगे|

किसानो को सिर्फ ट्रेक्टर ही नहीं बल्कि इसके साथ और 26800 उपकरण दिए जायेंगे जिससे किसानो को खेती में सहूलियत मिले| जब किसान आपका काम पूर्ण कर देगा तब किसान के पास से यह उपकरण वापिस ले लिए जायेंगे| इसके सामने कोई रेंट भी नहीं लिया जाएगा|

कंपनी किसानो के लिए इतना ही नहीं बल्कि और भी काम कर रही है| इस स्कीम का फायदा उठाने के लिए आपको TAFE कंपनी की वेबसाइट पर जाकर अप्लाय करना होगा| अभी तक इस स्कीम के तहर 64 हजार किसानो को फायदा मिल चूका है| यह स्कीम अभी तमिलनाडु में चालू करी गई है| रिपोर्ट्स के मुताबिक ऐसीही स्कीम जल्द ही पंजाब, हरयाणा, उत्तरप्रदेश, बिहार, राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र में चालू करी जायेगी|

एसी रोचक जानकारी हररोज पाने के लिए, हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे और इस लेख को अपने परिजन और मित्रो के साथ शेयर करना न भूले| धन्यवाद|