बिजली संकट होगा खत्म, कोयले की सप्लाई 23 फीसदी बढ़कर 29.17 करोड़ टन हुई! –
बिहार

बिजली संकट होगा खत्म, कोयले की सप्लाई 23 फीसदी बढ़कर 29.17 करोड़ टन हुई! –

डेस्क: बिजली की संकट से भय खाने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर सामने आई हैं.कोल इंडिया लिमिटेड  की बिजली क्षेत्र को कोयले की सप्लाई चालू वित्त वर्ष के पहले सात माह में 22.7 प्रतिशत बढ़कर 29.17 करोड़ टन पर पहुंच चुकी हैं. पिछले वित्त वर्ष की अप्रैल-अक्टूबर अवधि में कोल इंडिया लिमिटेड की बिजली क्षेत्र को कोयले की सप्लाई 23.77 करोड़ टन थी.

मिली जानकारी के अनुसार कोल इंडिया कंपनी की पिछले महीने में कोयले की सप्लाई 21.७ प्रतिशत बढ़कर 4.76  करोड़ टन थी, जो एक साल की समान समय में 3.91 करोड़ टन से अत्यधिक थी. सिंगरेनी कंपनी द्वारा बिजली विभाग को सात माह के भीतर इंधन की आपूर्ति ६६ प्रतिशत से बढ़कर 3.06 करोड़ हो गई थी. कोल इंडिया लिमिटेड का घरेलू कोयला उत्पादन में 80 प्रतिशत से अधिक का योगदान है.

वही एक रिपोर्ट की माने तो कोल इंडिया लिमिटेड का साल 2023-24 तक एक अरब टन कोयला उत्पादन का टारगेट रखा गया हैं. साल 2023-24 तक कोयला निकासी, खोज और स्वच्छ कोयला प्रौद्योगिकियों से जुड़ी अलग-अलग परियोजनाओं में 1.22 लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करेगी.

हम आपकों बता दे इस प्रस्तावित खर्च में से कोल इंडिया ने साल 2023-24 तक कोयले की निकासी पर 32,696 करोड़ रुपये, खदान के बुनियादी ढांचे पर 25,117 करोड़ रुपये और परियोजना के विकास पर 29,461 करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना बनाई है.