बिहार: चलती ट्रेन में शौचालय के सामने प्रेमी ने प्रेमिका को सिंदूर लगा रचाई शादी, यात्रियों ने दी बधाई
राज्यों की खबरें

बिहार: चलती ट्रेन में शौचालय के सामने प्रेमी ने प्रेमिका को सिंदूर लगा रचाई शादी, यात्रियों ने दी बधाई

बिहार के भागलपुर में एक अद्भुत शादी का एक मामला सामने आया है। प्रेमी-प्रेमिका ने ट्रेन में यात्रियों के सामने शादी कर ली। इस घटना की तस्‍वीर और वीडियो लगातार इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है। हर ओर इस शादी की चर्चा हो रही है। ट्रेन में शादी करने का यह अनूठा मामले की जानकारी तब स्‍वजनों को मिली जब इसका वीडियो और फोटो उन्‍होंने इंटरनेट मीडिया पर देखा।

जानकारी के अनुसार सुल्तानगंज प्रखंड के भीरखुर्द के उधाडीह गांव के रहने वाले हैं युवक और युवती कहते हैं प्यार जब परवान चढ़ता है तो कोई भी सही गलत का पता नहीं चलता। वहीं भीरखुर्द पंचायत के एक युवक ने शादीशुदा युवती के साथ शादी रचाने का मामला सामने आया है। पूर्व से शादी कर उसे ठुकरा कर प्रेमी आयुष कुमार के साथ चलती ट्रेन के शौचालय रुम के समीप अपनी शादी रचा कर जीने मरने का वादा किया।

बताया गया कि लड़की की शादी 2 महीना पूर्व किरणपुर गांव के युवक के लड़का से हुआ था। विवाहिता ससुराल से फरार होकर अपने प्रेमी आशु कुमार के साथ चलती ट्रेन के शौचालय रुम के समीप में अपनी शादी रचा ली। जिसका सोशल मीडिया पर खूब फोटो वायरल हो रहा है। वहीं आशु कुमार ने बताया कि गांव के युवती अनु कुमारी से कई साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों शादी करना चाह रहे थे। लेकिन युवती के परिजन को जब प्रेम प्रसंग दोनों के बीच पता चला तो युवती को घर से बाहर निकलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया। इस दौरान अप्रैल माह में युवती का परिजन किरणपुर गांव के एक युवक से जबरन शादी करा दी। बताया गया शादी के बाद अन्नू अपने पति के साथ नही रहने से इंकार कर दिया। बुधवार को मौका मिलते ही युवक के साथ युवती घर से फरार हो गयी।

दोनों सुल्तानगंज स्टेशन पहुंच कर बेंगलुरु के ट्रेन पकड़ कर रवाना हो गये। ट्रेन सुल्तानगंज स्टेशन से खुलते ही शादी करने के युवती दबाव बनाने लगी युवक ने ट्रेन के शौचालय रुम के समीप युवती का मांग भर शादी के रश्म पूरा कर लिया। प्रेमी और प्रेमिका के अनोखी शादी का फोटो सोशल मीडिया पर तेजी से बाहर होने लगी तरह-तरह के चर्चा हो रही है कोई प्रेम का मिसाल बता रहा है तो कोई विवाहिता प्रेमिका को अपने पति से गद्दारी करने के लिए दोषी ठहरा रहा है। लड़की सावित्री पूजन का बहाना बनाकर अपने ससुराल से फरार हुई विवाहिता अपने प्रेमी पति के लिए वट सावित्री का व्रत रखेंगे।