मैच जीतने पर चाहर ने कोच राहुल द्रविड़ को दिया श्रेय, बताया कैसे टीम को हारते देख द्रविड़ ने भिजवाया था खास संदेश
खेल

मैच जीतने पर चाहर ने कोच राहुल द्रविड़ को दिया श्रेय, बताया कैसे टीम को हारते देख द्रविड़ ने भिजवाया था खास संदेश

मंगलवार को खेले गए श्रीलंका और भारत के बीच सीरीज का दूसरा वनडे रोमांच से भरा रहा। कोलंबो के आर प्रेमदासा क्रिकेट स्टेडियम में श्रीलंका ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया और 9 विकेट के नुकसान पर 275 रनों का स्कोर खड़ा किया। 276 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। पहले वनडे में शानदार बल्लेबाजी करने वाले पृथ्वी शॉ 13 रन बनाकर आउट हो गए।

कप्तान शिखर धवन अच्छे लग रहे थे मगर वो भी 29 रन बनाकर हासारंगा की गेंद पर एलबीडबल्यू हो गए। ईशान किशन भी 1 रन बनाकर आउट हुए। मगर सूर्यकुमार यादव के अर्धशतक ने टीम इंडिया को कुछ भरोसा दिया। लेकिन वो भी 53 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। भारत ने 160 रन पर 6 विकेट गंवा दिए थे। लेकिन फिर दीपक चाहर ने नाबाद 69 रनों की पारी खेलकर हार के कगार पर खड़ी भारतीय टीम को 5 गेंद रहते 3 विकेट से जीत दिला दी।

इस पारी की शायद किसी ने कल्पना तक नहीं की होगी मगर जिस तरह से चाहर ने बल्लेबाजी की, उससे ये साबित हो गया कि टीम इंडिया को एक और ऑलराउंडर खिलाड़ी मिल गया है। दीपक चाहर ने इस पारी का श्रेय कोच राहुल द्रविड़ को दिया है।

दीपक चाहर का कहना है कि वह राहुल द्रविड़ के विश्वास के कारण ही टीम इंडिया को जीत दिला पाए। दीपक ने कहा, “देश के लिए मैच जीतने से बड़ी बात कोई नहीं है। राहुल सर ने मुझे हर गेंद को खेलने की सलाह दी थी।

दीपक चाहर ने आगे कहा, “राहुल सर ने मुझ पर भरोसा जताया। जब वो इंडिया ए के कोच थे तो मैं उनके अंडर में खेल हूं। वहां भी बल्लेबाजी में मैंने कुछ अच्छी पारियां खेली। राहुल सर ने मुझे कहा कि मैं नंबर 7 पर बल्लेबाजी कर सकता हूं। लक्ष्य 50 तक पहुंचा तो मुझे लगा हम जीत सकते हैं। मैंने कुछ रिस्क भी लिए।”

गौरतलब है कि इंटरनेशनल क्रिकेट में यह दीपक चाहर का पहला अर्धशतक है। दीपक चाहर का इससे पहले इंटरनेशनल क्रिकेट में उच्च स्कोर 12 रन था। मैच में दीपक चाहर ने गेंदबाजी में भी कमाल किया था और 2 विकेट चटकाए थे। दीपक चाहर को इस मैच वीनिंग परफॉर्मेंस के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ अवार्ड से सम्मानित किया गया।