लालू के मुस्लिम वोट तोड़ने के लिए ओवैसी ने चली बड़ी चाल
राज्यों की खबरें

लालू के मुस्लिम वोट तोड़ने के लिए ओवैसी ने चली बड़ी चाल

पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के निधन के बाद से नेताओं का सिवान पहुंचने का सिलसिला जारी है. सभी शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से मिलने के लिए पहुंच रहे हैं. इसी क्रम में शनिवार को असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के पांचों विधायक ओसामा से मिलने सिवान शहर के नया किला स्थित उनके मकान पहुंचे.सिवान के पूर्व सांसद और वरिष्‍ठ राजद नेता शहाबुद्दीन के निधन के बाद उनके घर हर रोज किसी न किसी दल के नेता पहुंच रहे हैं.हालांकि उनकी मौत के बाद राजद का प्रमुख चेहरा बन चुके तेजस्‍वी यादव के नहीं मिलने का मलाल समर्थकों को अब तक है.इस बीच असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम के बिहार के पांचों विधायक शनिवार को सिवान पहुंच गए.

सलीम परवेज समेत राजद के कई नेता शहाबुद्दीन के परिवार की उपेक्षा का आरोप लगा कर पार्टी छोड़ चुके हैं.ऐसे में इस मुलाकात को लेकर चर्चाएं अधिक हैं। हालांकि शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से जाप के पप्‍पू यादव और जदयू के राधा चरण सेठ के अलावा तेज प्रताप यादव भी मुलाकात कर चुके हैं.ओसामा की मां हिना शहाब किसी नेता से नहीं मिल रही हैं.

सिवान स्थित आवास पर ओसामा से मिले एआइएमआइएम के विधायक

सांसद अससुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम के पांच विधायक शनिवार को दिवंगत पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के स्वजनों से मिलने शहर के नया किला स्थित आवास पर पहुंचे.इस दौरान उन्होंने पूर्व सांसद के पुत्र ओसामा शहाब से मिलकर सांत्वना दी.सभी पांचों विधायक तरवारा होते हुए बड़हरिया पहुंचे.जहां समर्थकों द्वारा जोरदार स्वागत किया गया.

ओवैसी और शहाबुद्दीन के अच्‍छे संबंधों को किया याद

इस दौरान एआइएमआइएम के प्रदेश अध्यक्ष और अमौर विधायक अख्तरुल इमाम ने कहा कि मो. शहाबुद्दीन के निधन से राजद ही नहीं, बल्कि दलित, मजलूमों को काफी नुकसान हुआ है.कहा कि वे निडर और बेबाक लीडर थे.सामाजिक लड़ाई लडऩे वालों के साथ बिना डर के हक की बात करते थे. कहा कि ओवैसी और मो. शहाबुदीन के बीच अच्छे ताल्लुकात थे.ओवैसी कोरोना के कारण ओसामा से मिलने नहीं पहुंचे हैं.प्रदेश अध्यक्ष के साथ जोकीहाट विधायक शाहनवाज आलम, बायसी विधायक जनाब सैयद रुकनुद्दीन अहमद, कोचाधामन विधायक इजहार अफसी, बहादुरगंज विधायक अंजार नईमी व युवा प्रदेश अध्यक्ष आदिल हसन मौजूद थे. इस दौरान सभी ने बंद कमरे में बैठकर घंटों बातचीत की.