सही रणनीति अपनाकर पहले ही प्रयास में IAS अफसर बने Divyanshu Singal, जाने सफलता की कहानी
अन्य खबरें

सही रणनीति अपनाकर पहले ही प्रयास में IAS अफसर बने Divyanshu Singal, जाने सफलता की कहानी

यूपीएससी की तैयारी के लिए एक बेहतर रणनीति की आवश्यकता होती है. हमारे देश भारत में हर साल लाखों विद्यार्थियों द्वारा यूपीएससी की परीक्षा दिया जाता है.यूपीएससी की परीक्षा में वही विद्यार्थी पास हो पाते हैं जो सही रणनीति के साथ कड़ी मेहनत करते हैं.

आज हम आपको दिव्यांशु की कहानी बताने वाले हैं जिन्होंने सही रणनीति से अपने बचपन के सपने को साकार कर दिखाया. दिव्यांशु ने बताया कि वह कैसे इस कठिन परीक्षा को पास किए….

पोस्ट ग्रेजुएशन के दौरान शुरू की तैयारी-

दिव्यांशु ने पोस्ट ग्रेजुएशन के समय यूपीएससी की तैयारी के लिए कोचिंग ज्वाइन कर लिया. लेकिन उन्होंने इस दौरान कोई परीक्षा नहीं दी क्योंकि उनका मानना है कि जब तक आप अच्छे से तैयारी नहीं करें तब तक कोई अटेम्प्ट नहीं दे. उन्हें कोचिंग से सही मार्गदर्शन तो मिला है लेकिन साथ ही साथ उन्होंने खुद भी एक सही रणनीति बनाई.

सोच समझकर चुना ऑप्शनल सब्जेक्ट-

दिव्यांशु ने पीजी की पढ़ाई मैथ सब्जेक्ट से किया इसलिए उन्होंने यूपीएससी में अपना ऑप्शनल सब्जेक्ट मैथ्स चुना. दिव्यांशु का मानना है कि ऑप्शनल सब्जेक्ट का चुनाव सोच समझ कर करें नहीं तो बाद में परेशानी होने लगेगी.

अन्य लोगों को दिव्यांशु की सलाह-

दिव्यांशु ने बताया कि आप यूपीएससी की तैयारी के लिए इंटरनेट पर जाकर टॉपर्स का इंटरव्यू देख सकते हैं. इस परीक्षा की तैयारी सीमित किताबों से करें और जिस किताब से इस परीक्षा की तैयारी करें उससे ही बेस्ट माने.किसी के कहने पर अपने तैयारी का तरीका नहीं बदले. सही रणनीति और कड़ी मेहनत की बदौलत आप इस परीक्षा में सफलता हासिल कर सकते हैं.

दिव्यांशु कहते हैं कि आप यूपीएससी की तैयारी करने से पहले सिलेबस को अच्छी तरह देख लें. आप इंटरनेट पर जाकर टॉपर्स के इंटरव्यू देख सकते हैं और उसके अनुसार अपनी रणनीति तैयार कर सकते हैं. इसके अलावा जहां भी आपको लगे कि रणनीति में बदलाव करना है, वहां बदलाव कर लीजिए. आप सीमित किताबों के साथ यूपीएससी की तैयारी करें और उन्हीं किताबों को बेस्ट मानें. दूसरों को कहने पर तैयारी का तरीका ना बदलें. अगर आप पूरे समर्पण और ईमानदारी के साथ कड़ी मेहनत करेंगे, तो आपको यूपीएससी में सफलता जरूर मिलेगी.