खेल

मोहम्मद शमी के भाई ने भी शुरू की टीम इंडिया में आने की तैयारी,अब लगा झटका,आबिद ने खेली तूफानी पारी



भारतीय क्रिकेट टीम के लिए अपनी गेंदों से कई जीतों में अहम योगदान देने वाले मोहम्मद शमी मौजूदा समय में दुनिया के बेहतरीन गेंदबाजों में गिने जाते हैं. अब शमी के भाई मोहम्मद कैफ ने भी टीम इंडिया की जर्सी पहने की तैयारी शुरू कर दी है. उनका डेब्यू हालांकि निराशाजनक रहा. भाई की तरह मोहम्मद कैफ भी तेज गेंदबाजी करते हैं, लेकिन अपने पहले मैच में वह कुछ खास नहीं कर पाए.

इस समय भारत का घरेलू सत्र चालू है और वनडे टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी खेला जा रहा है. इसी टूर्नामेंट से मोहम्मद कैफ ने बड़े मंच पर कदम रखा है. उन्होंने शनिवार को कोलकाता के वीडियोकोन अकादमी ग्राउंड में बंगाल की तरफ से खेलते हुए जम्मू एवं कश्मीर के खिलाफ डेब्यू किया.बंगाल ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट खोकर 368 रन बनाए.

जम्मू एवं कश्मीर की टीम 45.3 ओवरों में 286 रनों पर ऑल आउट हो गई. बंगाल की टीम से गेंदबाजी करने वाले पांच गेंदबाजों में चार को विकेट मिले लेकिन शमी के भाई मोहम्मद कैफ ही इकलौते ऐसे गेंदबाज रहे जिनके हिस्से सफलता नहीं आई. उन्होंने आठ ओवर फेंके और 7.50 की औसत से 60 रन खर्च किए लेकिन एक भी विकेट नहीं ले पाए. उनको छोड़कर अर्णब नंदी ने चार, मुकेश कुमार ने दो, ईशान पोरेल और शाहबाज अहमद ने एक-एक विकेट लिए.

शमी ने किया भावुक ट्वीट,मोहम्मद कैफ के पदार्पण करने के कुछ देर बाद उनके भाई और भारतीय टीम के मुख्य गेंदबाजों में शुमार मोहम्मद शमी ने एक भावुक ट्वीट किया था. शमी ने ट्वीट करते हुए लिखा, “विजय हजारे ट्रॉफी में डेब्यू करने पर बधाई हो मेरे भाई. हमने इस पल का इंतजार किया था. आप अपने लक्ष्य के एक कदम और करीब आ गए. कड़ी मेहनत करते रहिए.


जम्मू एवं कश्मीर की टीम विशाल स्कोर के सामने कहीं नहीं टिकी. उसके कप्तान परवेज रसूल और आबित मुश्ताक ने जरूर अर्धशतकीय पारियां खेलते हुए टीम को जीत दिलाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो सके. आबिद ने 64 गेंदों पर छह चौके और तीन छक्के की मदद से 68 रन बनाए. रसूल ने 42 गेंदों पर 50 रनों की पारी खेली. उनकी पारी में चार चौके और एक छक्का शामिल रहा