बिहार में वज्रपात से 10 की मौत, आकाशीय बिजली से 9 अन्य लोग झुलसे

बिहार में कोरोना वायरस की महामारी के बीच आकाश से बरस रही आफत भी एक बड़ी चुनौती बनी हुई है. बिहार में मानसून पूरी तरह अपने चरम पर है. इस दौरान वज्रपात की चपेट में आने से लगातार कई लोगों की जान जा चुकी है. मबगलवार को हुई तेज बारिश के दौरान वज्रपात की चपेट में आने से 10 लोगों की मौत हो गई जबकि 9 लोग झुलस गए.

मंगलवार को राज्य में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 10 लोगों की मौत हो गई. सबसे ज्यादा बांका में 4 और नालंदा में 3 लोगों की मौत हुई. जबकि जमुई में 2 और नवादा में एक व्यक्ति की मौत हुई. इसके अलावा नालंदा जिले में 3 और लोगों के जख्मी होने की बात सामने आ रही है.

नालंदा जिले के बिंद थाना इलाके के गोविंदपुर गांव में मंगलवार को वज्रपात से तीन युवकों की मौत हुई है. मरने वालों में गंगाविशुन बिंद के बेटे राजीव बिंद, संजय बिंद के बेटे घनश्याम कुमार और रामविलास राम के बेटे ब्रजकिशोर कुमार शामिल हैं. जबकि जख्मी अरविंद कुमार, ओमकार राम और जितेंद्र कुमार है. जख्मी युवकों को पहले बिहारशरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, उनकी नाजुक हालत को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया.

नवादा जिले के रहीमपुर गांव में एक व्यक्ति की मौत हुई. जबकि चार युवक घायल हो गए. मृतक राहुल कुमार रहीमपुर गांव के ही लखन यादव का बेटा था. ओंकार कुमार, पिंटू कुमार, धर्मेंद्र कुमार ,कपिल यादव जख्मी बताये जा रहे हैं. वहीं, दूसरी ओर बेगूसराय जिले में चकहमीद पंचायत के वार्ड आठ बहोरचक गांव में वज्रपात से एक बच्ची की मौत हो गई. जबकि दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *